1. 10

    धरा रूप नरसिंह को अम्बा । प्रगट भईं फाड़कर खम्बा ॥ १० ॥

    O Mother Amba, it was you who appeared in the form of Narismha, sundering the pillar. ॥ 10 ॥

    हे अम्बे माता! आप ही ने श्री नरसिंह का रूप धारण किया था और खम्बे को चीरकर प्रकट हुई थीं। ॥ १० ॥