1. 24

    परी गाढ़ सन्तन पर जब-जब । भई सहाय मातु तुम तब तब ॥ २४ ॥

    Thus whenever the noble saints were distressed, it is you O Mother, who came to their rescue. ॥ 24 ॥

    हे माता! संतजनों पर जब-जब विपदाएं आईं तब-तब आपने अपने भक्तों की सहायता की है। ॥ २४ ॥