1. 23

    रूप कराल कालिका धारा । सेन सहित तुम तिहि संहारा ॥ २३ ॥

    You assumed the dreadful form of Goddess Kali and massacred him along with his army. ॥ २३ ॥

    तब काली का विकराल रूप धारण कर आपने उस पापी का सेना सहित सर्वनाश कर दिया। ॥ २३ ॥